Thought for the Day

Thought for the Day

जब साधु-संगति मिलती है और मनुष्य संत-सेवी होता है, तब उसे हृदय की प्रसन्नता प्राप्त होती है । – पूज्य संत श्री आशारामजी...
Thought for the Day

Thought for the Day

अपने आत्मरस से ही जगत रसवान हो रहा है । – पूज्य संत श्री आशारामजी बापू
Thought for the Day

Thought for the Day

आपके पास जो भी विवेक है, वैराग्य है, प्रीति है, पाने की इच्छा है वह सब ईश्वरप्राप्ति के निमित्त लगा दो, ईश्वर मिल जायेंगे। – पूज्य संत श्री आशारामजी...
Thought for the Day

Thought for the Day

घोर प्रवृत्ति के बीच भी ज्ञानी भीतर से राग-द्वेष से रहित अपनी सच्चिदानंदघन ब्रम्ह स्थिति से दृढ़ होते है ।  – पूज्य संत श्री आशारामजी...
Thought for the Day

Thought for the Day

ध्यान करने से, मन एकाग्र करने से प्राणों की गति नियंत्रित होती है और प्राणों का अनुसंधान करने से मन की एकाग्रता होती है । – पूज्य संत श्री आशारामजी...